सामाजिक क्षेत्र में सफ़र : जीतराम चोधरी

मैं जीतराम चौधरी ग्राम जानकीपुरा, ज़िला टोंक राजस्थान से हूँ। मेरे माता-पिता कृषि कार्य से जुड़े हुए हैं। मैंने अपनी शिक्षा अपने गांव से प्रारम्भ की। मेरी प्रारंभिक शिक्षा के समय ही मेरे दिल और दिमाग में सामाजिक कार्य के प्रति शुरू से ही रूचि पैदा हो गयी। अपनी ग्रेजुएशन के समय ही मैंने CECOEDECON संस्था जॉइन की, जिसमे मैंने गावों में सामाजिक कार्यों के प्रति कार्य करना प्रारम्भ किया। मैंने गांव, आंगनवाड़ी, पानी, सड़क, नाली-निर्माण जैसी समस्याओं के प्रति काम किया। मैंने CECOEDECON संस्था के तहत मालपुरा पंचायत समिति के गावों के गरीब परिवारों का सर्वे किया जिसमें उनकी समस्याओं के बारे में विभिन्न जानकारी प्राप्त की। यह देखा कि इन ग़रीब परिवारों को रोज़गार ना मिलने से उनकी स्थिति और भी निम्न होती जा रही है।

हम ब्लॉक स्तर पर हर महीने युवाओं के साथ मीटिंग करते हैं, जिसमें गांव की समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर, उनके बारे में विचार-विमर्श करते हैं।

संस्था में काम करने के दौरान विभिन्न कार्यक्रमों में सरकारी विभाग से जुड़ कर समन्वय करके योजनाओं को ग्राम स्तर पर प्रभावी करने का प्रयास किया। जिसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, जल और पानी, सिचाई, और पंचायती राज संस्थाओं की अहम् भूमिका है।

और निरंतर कोशिश है कि आगामी समय में सामाजिक कार्यों के माध्यम से लोगों तक बेहतर संभावनाओं को पहुँचा सके।

अलग-अलग प्रकार के सामाजिक कार्यों के दौरान मेरे कौशल को बढ़ावा मिला। भाषा के बात-चीत से नेतृत्व की पकड़ के साथ ही ज़मीनी स्तर पर लोगों के साथ काम करना शुरू किया।

एकाउंटेबिलिटी इनिशिएटिव के ‘हम और हमारी सरकार’ कोर्स से मुझे सरकारी नौकरशाही और विकेन्द्रीकृत सरकार को समझने में बहुत सहयोग मिला और मेरे काम को और ज़्यादा मज़बूती मिली।

(जीतराम ने मार्च  2019 में ‘हम और हमारी सरकार’ के जयपुर में आयोजित खुले कोर्स में हिस्सा लिया था)